ख़याल


न कोई ख्याल छु सका मन को
जब से तेरा ख़याल छूके गया
जिन आँखों को खूबसूरत कहा था तुने
आज तेरा ख़याल उन्ही आँखों को नम कर गया