चाँद


मैंने भी आज चाँद में
किसी का चेहरा देखा
आंसुओं से भीगी पलकों से
उन मुस्कुराते लबों को देखा

जुल्फों की चिलमन से झाँककर
मैंने किसी की नशीली आँखों को देखा
मैंने भी आज चाँद में
किसी का चेहरा देखा.

You Me & Stories: Stories on Relatonships...