सच्चे दोस्त


कुछ नाम हैं जो लब पे अपने आप आ जाते हैं 
जब एक सच्चे दोस्त की ज़रूरत होती है 
वो दोस्त जो मेरी मुस्कराहट के पीछे छिपे दर्द को आज भी समझते हैं 
जो आज भी करीब ना होकर भी, करीब है - 
आय विल मेक यू स्माइल कहते हुए. 

जब एक सच्चे दोस्त की ज़रूरत होती है 
वो यादों में आकर लबों पे मुस्कराहट छोड जाते हैं.